हनुमा और मयंक ने अन्य ग्यारह चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया

विदर्भ  के खिलाफ पहली पारी में 330 रनों का सम्मानजनक स्कोर बनाकर भारत की टीम ऑलआउट हुई। हनुमा विहारी और मयंक अग्रवाल ने गजब का स्कोर खड़ा किया और सामने वाली टीम को चुनौती दी। हनुमा विहारी ने 114  रन एवं मयंक अग्रवाल ने 95  रन बनाये। इसी के साथ भारत ने ईरानी ट्राफी के अंतर्गत विदर्भ के खिलाफ 330 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा कर दिया, इस प्रकार नागपुर में पहले दिन का मैच अच्छा साबित हुआ। लेकिन बाकी टीम ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं दिखा पायी और 330 रनों के साथ ही पूरा मैच सिमट गया। लेकिन जो 330 का स्कोर है वो बड़ा स्कोर है जिसे पार करना थोड़ा कठिन है। अब दूसरे दिन की शुरुआत विदर्भ की पहली पारी से होने वाली है।

भारत ने पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। एवं पारी की शुरुआत मयंक अग्रवाल एवं अनमोलप्रीत सिंह ने की, एवं शेष भारत 47  रनों पार सिमट गया। अगर भारत का स्कोर देखा जाये तो कुछ इस प्रकार से रहा- अनमोलप्रीत सिंह ने 47  रन बनाये, विहारी एवं मयंक अग्रवाल ने कुल 125 रनों की अच्छी साझेदारी की।  दूसरे विकेट में मयंक आउट हुए और इसके साथ ही वे शतक बनाने से चूक गए।

यश ठाकुर ने मयंक को 95 रन पर आउट किया। मयंक ने 135 गेंदों पर 95 रन का अच्छा स्कोर खड़ा किया और इसके अंतर्गत 10 चौके और 3  छक्के शामिल रहे, लेकिन शतक लगाने से चूक गए जिसका इनको और पूरी टीम को बहुत दुःख है। पूरे दिन भारत विदर्भ पर हाबी साबित हुआ। इसके बाद विदर्भ ने वापसी की एवं मयंक अग्रवाल और अजिंक्य रहाणे को आउट किया। अगर मयंक अग्रवाल थोड़ी देर और खेल जाते तो रनों का स्कोर कुछ और ही होता। अजिंक्य रहाणे  ने सिर्फ 13  रन बनाये और उस समय टीम ने कुल 186 रन बनाये थे। श्रेयस अय्यर 19 रन बनाये और कुछ देर ही विहारी का साथ दे पाए और आउट हो गए। वही अन्य खिलाडियों का स्कोर कुछ इस प्रकार था जैसे: इशान किशन – 02 रन, गौतम -07 रन ,धर्मेंद्र सिंह जडेजा – 06, लेकिन राहुल ने विहारी के साथ थोड़ी अच्छी साझेदारी की एवं 300 रनों  का आंकड़ा पार किया।  इसी के साथ पहले ही दिन खेल समापन की और बढ़ा और विहारी का विकेट भी गिर गया। लेकिन विहारी ने 211 रनों में से 114  रनों की पारी खेली जो सराहनीय थी।

Be the first to comment on "हनुमा और मयंक ने अन्य ग्यारह चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया"

Leave a comment

Your email address will not be published.