विश्व कैंसर दिवस पर युवराज सिंह ने कैंसर के बारे में जागरूकता लाने को पहल की

 विश्व कैंसर दिवस पर जानेमाने भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने सबके बीच जागरूकता फ़ैलाने की कोशिश की एवं यूवीकैन फाउंडेशन के बारे में बताया। युवराज सिंह ने इस दिन जागरूकता फ़ैलाने की कोशिश की क्योंकि बहुत से लोग इस गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। एक समय युवराज सिंह भी इस खरतनाक बीमारी का हिस्सा बने हुए थे। वर्ष 2011  के अंतर्गत वर्ल्ड कप के दौरान युवराज सिंह की तबियत ख़राब हुई एवं उन्हें सांस लेने में काफी तकलीफ हुई, जब उनको डॉक्टर को दिखाया गया तो पता चला कि युवराज सिंह को फेफड़ों में कैंसर है। एवं इसके बाद इनका इलाज अमेरिका में एक साल तक चला। 2012  में युवराज सिंह बापस मैदान में उतरे। अब युवराज सिंह पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हैं एवं  इतनी परेशानियों के चलते भी युवराज सिंह ने 2011  के वर्ल्ड कप में अहम् सहयोग दिया।

2011  में युवराज सिंह ने टी 20  में लगातार ६ छक्के मारे एवं विश्व कप में  मैन आफ द मैच सीरीज़ की ट्रॉफी जीती, एवं युवाओं के लिए युवराज सिंह एक मिसाल बने।  जब इन्हें इस बीमारी के बारे में पता चला तो इससे लड़ने के लिए ये तैयार थे एवं इन्होंने साबित किया कि आपके पास जीत की वजह होना चाहिए, फिर कोई खेल हो या बीमारी आप उससे आसानी से जीत सकते हैं। विश्व कैंसर दिवस पर युवराज सिंह ने 2013  प्रारम्भ हुए यूवीकैन फाउंडेशन के बारे में बताया और लाखों पीड़ितों के जीवन को चुने की कोशिश की।

युवराज सिंह ने बताया कि वे स्वयं को बहुत धन्य मानते हैं कि यूवीकैन फाउंडेशन के माध्यम से वे लोगों तक पहुँच रहे हैं, एवं उन्हें सहायता प्रदान करने में सक्षम हैं। और इन्होंने यह भी कहा कि यह कार्य मैं क्रिकेट के साथ – साथ भी कर सकता हूँ।  इस कार्य को करने से मुझे शांति मिलती है एवं मैं इस अम्ध्यम से कैंसर पीड़ितों को साहस एवं आत्मविश्वाश देना चाहता हूँ।जिससे वे समाज के लिए एक उदहारण बन सकते और अन्य लोगों को प्रेरित कर सकें। युवराज सिंह ने कहा कि YWC के  माध्यम से हमने कैंसर के प्रति काफी जागरूकता फैलाई है। एवं उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए एवं कार्यक्रमों को लागू करने के लिए एक टीम निश्चित की है जो रोगी एवं उनको क्या सुविधा प्रदान करना है ये पता लगाएंगे। जागरूकता न होना बहुत बड़ी कमी है एवं हर वर्ष देश में कम से कम 15  लाख कैंसर के मामले सामने आते हैं। अगर लोगों मैं कैंसर के प्रति जागरूकता होगी तो इस 15  लाख की संख्या को कम किया जा सकता है। हमें उम्मीद है कि YWC के  माध्यम से हम यह करने में सक्षम अवश्य होंगे।

Be the first to comment on "विश्व कैंसर दिवस पर युवराज सिंह ने कैंसर के बारे में जागरूकता लाने को पहल की"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*