डेढ़ साल तक भारतीय टीम से बाहर होने का अनुभव बताते हुए रवींद्र जडेजा का छलका ददद

#cricket #cricketnews

भारतीय टीम न्यूजीलेंड के खिलाफ वर्लडद टेस्ट चैंखियनखिि का फ़ाइनल िेलने के खलए 2 जून को इंग्लैंड के खलए रवाना होगी,उसके बाद भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज भी िेलेगी| भारतीय टीम में ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा की वािसी भी हुई है,जडेजा से इंग्लैंड में िानदार प्रदिदन की उम्मीद लगाई जा रही है| खवश्व टेस्ट चैंखियनखिि का फ़ाइनल मुकाबला 18 जून से 22 जून तक िेला जाएगा| रववंद्र जडेजा की टीम में वािसी लगभग 18 महीने बाद साल 2018 में इंग्लैंड दौरे िर हुई थी| हाल ही में जडेजा ने एक इंटरव्यू में उस मुखककल समय के बारे में बताया की सच कहं तो वो डेढ़ साल मेरी रातों की नींद हराम थी,उस मुखककल दौर में, मैं सुबह 4 या 5 बजे उठ कर सोचता था की मै क्या करं कैसे टीम में कैसे वािसी करं ? मैं सही से सो भी नहीं िाता था| मैं टेस्ट टीम का खहस्सा था लेककन मैच में िेलने का मौका नहीं खमल रहा था,टीम में िाखमल होने की वजह से मैं घरेलू किकेट भी नहीं िेल िा रहा था| उसके बाद साल 2018 में ओवल टेस्ट के बारे में बताया की उस टेस्ट ने मेरा िेल,प्रदिदन और आत्मखवश्वास सब कुछ बदल कदया। ओवल टेस्ट में जडेजा ने िानदार प्रदिदन करते हुए बटोर बर्ललेबाज 86 रन बनाए थे। रववंद्र जडेजा ने भारत की तरफ से िेलते हुए 51 टेस्ट मैचों में 1954 रन और 220 खवकेट खलए है|

Be the first to comment on "डेढ़ साल तक भारतीय टीम से बाहर होने का अनुभव बताते हुए रवींद्र जडेजा का छलका ददद"

Leave a comment

Your email address will not be published.