एकदिवसीय क्रिकेट में विराट की टीम से बेहतर 1985 की टीम थी – कोच रवि शास्त्री

भारतीय टीम के वर्तमान मुख्य कोच रवि शास्त्री ने 1985 की टीम को वर्तमान टीम से बेहतर माना है| भारतीय टीम ने कपिल देव की कप्तानी में पहला विश्व कप 1983 में जीता था लेकिन शास्त्री का मानना है की 1983 की टीम से बेहतर टीम 1985 की थी| रवि शास्त्री का मानना है की 1985 में एकदिवसीय मैच खेलने वाली टीम आज की विराट सेना को भी चुनौती देने में सक्षम है,आगे उन्होंने कहा की 1983 से बेहतर 1985 की टीम थी| 57 वर्षीय शास्त्री फिलहाल भारतीय टीम के कोच के पद पर है और उन्होंने टीम को क्रिकेट के तीनो फॉर्मेट में बेहतर बनाया है| शास्त्री के हिसाब से 1985 की टीम में शिवरामकृष्णन, सदानंद विश्वनाथ, अजहरूद्दीन जैसे युवा खिलाड़ी शामिल होने की वजह से टीम काफी मजबूत हो गई थी,टीम में 80 प्रतिशत पुराने खिलाडी भी शामिल थे| शास्त्री ने विराट की टीम की तारीफ करते हुए कहा की ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में पिछले 70 सालो में कोई नहीं हरा पाया है,विराट की टीम ने ऑस्ट्रलिया को सीरीज हराकर काबिले तारीफ प्रदर्शन किया है लेकिन अगर हम सीमित ओवरों की बात करें तो 1985 की टीम आज की टीम से बेहतर है| वर्ष 1985 में क्रिकेट वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत की टीम ने सुनील गावस्कर की कप्तानी में शानदार प्रदर्शन करते हुए चैंपियनशिप जीती थी,जिसमे रवि शास्त्री के शानदार प्रदर्शन की वजह से मैन ऑफ़ द सीरीज चुना गया था|

Be the first to comment on "एकदिवसीय क्रिकेट में विराट की टीम से बेहतर 1985 की टीम थी – कोच रवि शास्त्री"

Leave a comment

Your email address will not be published.